जब औरत बने आदमी, और आदमी बनी औरत ने रचाई शादी, प्रेम कहानी सुन उड़ जाएंगे होश।

    0

    भारतीय समाज में एक नार्मल शादी उसे माना जाता है जहां एक औरत की शादी एक मर्द से होती है, लेकिन उस शादी को क्या माना जाए जहाँ एक मर्द बन जाता है औरत और एक औरत बन जाती है मर्द। जी हाँ, सही सुना आपने एक ऐसा ही अनोखा किस्सा हुआ है जिसे सुन आप भी अपने होश खो देंगें। ये एक ऐसी प्रेम कहानी जो दुनिया के तय मानकों को चुनौती देती है।

    आप भी जाने क्या है पूरा मामला


    ये अजीबो गरीब प्रेम कहानी है आरव अपुकुट्टन और सुकन्या कृष्ण की है, जिन्हें प्यार भी हुआ तो एक अस्पताल में। आरव पहले एक लड़की था और बिंदु हुआ करता था, वैसे ही सुकन्या एक लड़का थी और उसका नाम चंदू था। एक स्त्री शरीर में कैद मर्द था तो दूसरा एक मर्द के शरीर में कैद औरत। हिन्दुस्तान में ट्रांसजेंडर होना इतना आसान नहीं होता, जीवन कठिन होता है क्यूंकि हमारा समाज आपको एक्सेप्ट नहीं करता। कुछ ऐसा इनदोनों के साथ भी हुआ। आरव और सुकन्या पहली बार मुंबई के कोकिलाबेन धीरुभाई अंबानी अस्पताल में मिले जहाँ दोनों ही अपना सेक्स चेंज ऑपरेशन करवाने आये थें।

    कैसे हुआ दोनों में प्यार


    आरव का कहना है की इनदोनो का मिलना एक प्यारा संयोग था। दोनों ही मलयाली है, अस्पताल में सुकन्या उर्फ़ चंदू अपने परिवार वालों से मलयाली में फोन पर बातें कर थीं और बता रही थीं कैसे वो अपने वास्तविक पहचान जो की एक पुरुष का था उसमे सहज नहीं है और इसलिए वो सेक्स चेंज ओप्रशन के लिए आयी है,उसकी ये सारी बातें आरव उर्फ़ बिंदु सुन रहा था। सुकन्या के फोन रखने के बाद आरव उसके पास गया और अपना परिचय दिया, फिर दोनों में बातचीत शुरू हुई और दोनों ने एक दूसरे के फोन नंबर एक्सचेंज किये। एक इंटरव्यू में सुकन्या ने बताया की उस दिन ऑपरेशन के बाद आरव वापिस बैंगलोर और वो खुद केरल चली गयीं, एकदिन अचनाक उसे आरव का फोन आया, दोनों ने घंटो बात की और एक दूसरे में ऑपरेशन के बाद हुए बदलावों को शेयर किया। धीरे-धीरे दोनों के रोज बातें होने लगी और प्यार होगया, दोनों में प्यार होना लाज़मी भी था क्यूंकि दोनों एकदूसरे की फीलिंग को बखूबी समझने लगे थे, और दूसरा कोई था भी नहीं जो इन्हें नार्मल समझता हो।

    क्यों करवाया सेक्स चेंज ऑपरेशन


    आरव उर्फ़ बिंदु का ये कहना है की लड़की होने के वावजूद उन्हें लड़कियों की तरह रहना और ड्रेस पहनना बिलकुल पसंद नहीं था। कई बार उसने खुद को लड़कियों की तरफ आकर्षित होते हुए भी पाया। आरव के अनुसार वो अपनी लड़की वाली बॉडी में बिलकुल सहज नहीं था इसलिए उसने मेहनत की दुबई गया और वापिस इंडिया आके अपना सेक्स चेंज ऑपरेशन करवाया। सुकन्या के साथ भी कुछ ऐसा ही था वो भी अपनी मर्दानी बॉडी से सहज है थी, उसके परिवार वालों ने उसके पांच साल के होते ही ये नोटिस करना शुरू किया की उसकी हरकतें लड़कियों वाली है है इस वजह से समाज में उसके परिवार को काफी ताने भी सुनने पड़े। 18 साल की होते ही सुकन्या उर्फ़ चंदू ने अपना सेक्स ऑपरेशन करवाने का सोच लिया था।

    तो ये थी इनदोनो की अनोखी प्रेम कहानी, आज ये दोनों एक दूसरे के हमसफ़र बन नार्मल लाइफ गुजार रहें हैं।

    LEAVE A REPLY

    Please enter your comment!
    Please enter your name here