भानगढ़ किले का भयानक और अनसुलझा रहस्य जो वैज्ञानिकों के भी होश उड़ा रहा – देखें VIDEO

    0

    भारत देश का इतिहास प्राचीनकाल से ही राजशाही रहा है जहां महलों और किलो की अनगिनत साक्ष पॉय जाते हैं। ऐसे में ही एक ऐसा किला सामने आया है जिसकी डरावनी सच आपको अंदर तक झंकझोर देगी और यह खबर बिल्कुल सच्ची है।

    भानगढ़ किला, एक ऐसा किला जहां जाने वाले यात्री को आज भी इस बात की चेतावनी दी जाती है कि सूर्योदय से पहले और सूर्यास्त के बाद किले के अंदर ना रुकें वरना इस दैरान पक्का आपके साथ कुछ भयानक घटना होगा। आज हम आपको अवगत कराएंगे इस किले की सच्चाइयों से जिसके वजह से आज भी यह एक डरावना सच बना हुआ है आखिर क्या है इस किले में…

    भूत प्रेत का बसेरा बन गया है किला :-

    लोगो का ऐसा मानना है कि भानगढ़ किला अब भी भूतों और प्रेतों का निवास स्थान है। भारत के पुरातत्व विभाग ने भी इस खंडहर को अधिगृहित कर लिया है। पुरातत्व विभाग ने इस किले के संरक्षण का जिम्मा तो ले लिया है पर अपना कार्यालय एक ऐसे जगह पर बनवाया है जो किले से लगभग 2 किमी दूर है और असंरक्षित क्षेत्र में पड़ता है।

    यह किला राजस्थान राज्य में जयपुर और अलुवर के बीच स्थित है। अगर वहां पास में रह रहे क्षेत्रीय लोगो से पूछे तो वहां रात के समय किले से जोर जोर से चिल्लाने की भयानक आवाजे आती हैं। जिससे मौत का तांडव सामने दिखता नजर आता है और ये आवाजें ऐसा प्रतीत होता है जैसे चारों दिशाओं से आ रही हो। साथ ही यह भक्त भी कही गयी है कि जो व्यक्ति इस किले के अंदर चला जाये वह जिंदा वापस नही आता है। लेकिन इस किले का असली रहस्य कोई भी नही जान पाया है, क्या यह सच है कि यहां भूत प्रेतों का डेरा है या यह बात बिल्कुल झूठी है। इसका फैसला आगे आने वाली जानकारी से पता चल जाएगा…

    वहां के एक नागरिक के अनुसार भानगढ़ किला गुरु बालूनाथ द्वारा शापित स्थान है। उन्होंने ही इस महल निर्माण की अनुमति दी थी साथ ही साथ इस बात की भी चेतावनी दी थी कि महल की ऊँचाई इतनी ना रखी जाए कि उनके ध्यानमग्न होने में बाधा उतपन्न हो, अगर ऐसा हुआ तो वे पूरे नगर का खात्मा कर देंगे। लेकिन वहां के राजा ने इस बात को नजरअंदाज कर दिया और उस महल की ऊंचाई बढ़ाता चला गया। इसका बुरा परिणाम निकला और बालूनाथ ने इस महल को शापित कर दिया।

    इसके पीछे की दूसरी कहानी भी बिल्कुल अजीब है जिसके अनुसार यहां एक बेहद सुंदर राजनकुमारी होती थी जिनका नाम रत्नावती था। इनकी खूबसूरती के चर्चे राज्य भर में थी तभी एक तांत्रिक की नजर इस सुंदरी पर पड़ी और वह मोहित हो गया। तांत्रिक किसी भी हालत में राजनकुमारी को अपना बनाना चाहता था और इस मौके की तलाश में जुट गया। एक दिन अचानक उसने देखा कि राजकुमारी का सेवक उनके लिए इत्र खरीदने जा रहा है तब उसने अपने जादू टोने से जड़ित इत्र उस सेवक को दे दिया। पर उसे ऐसा करते राजकुमारी के एक गुप्तचर ने देख लिया और सारी घटना का पोल राजकुमारी के सामने खोल दिया। इन बातों को जानकर राजकुमारी आग बबूला हुए और उस तांत्रिक को मारने के लिए ऊपर से एक पत्थर का चट्टान लुढ़का दी। इससे तांत्रिक तो मर गया पर मरते-मरते उसने यह श्राप दिया कि भानगढ़ पूरी तरह नष्ट हो जाएगा।

    इन दोनों घटनाओ का सच कुछ और हो सकता है पर आज के साक्ष्यों की बात करें तो आपके होश उड़ जाएंगे। आज तो कभी कभी एक पूरी सेना के आने की आवाज सुनाई देती है जिसमे उनके वस्त्रों और अस्त्र-शस्त्र की आवाजें भी आती है। भानगढ़ का किला भारत के सबसे डरावने स्थानों में से एक है जहां जाने से भी लोग कांपते हैं। देखिये इनका लाइव वीडियो नीचे जिसे जानकर वैज्ञानिकों के भी होश उड़ गए हैं।

    यहां देखें वीडियो :- 

    LEAVE A REPLY

    Please enter your comment!
    Please enter your name here